Good Health

युवाओं में भी बढ़ रहा है ब्रेन स्‍ट्रोक का खतरा, खराब लाइफ स्‍टाइल सबसे बड़ी वजह Stroke Before Age 40 Know Its Causes Symptoms And Prevention – Good Health

Written by [email protected]


विश्व स्वास्थ्य दिवस 2021: जब भी यह स्ट्रोक या ब्रेन हेमरेज होता है, तो हमारे दिमाग में एक बुजुर्ग व्यक्ति का चेहरा बदल जाता है। लेकिन हर साल लाखों की संख्या में युवा वर्ग इस बीमारी की चपेट में आकर अपनी जान गंवा रहा है। अकेले संयुक्त राज्य अमेरिका में हर साल लगभग 70,000 युवा, जिनकी उम्र 40 से कम है, इस घातक बीमारी के शिकार हैं।

एक स्ट्रोक क्या है?

जब मस्तिष्क में एक नस अचानक अवरुद्ध या फट जाती है, तो इसे स्ट्रोक कहा जाता है। जब ऐसा होता है, तो मस्तिष्क को रक्त की आपूर्ति बंद हो जाती है, जो सीधे मस्तिष्क के कार्य को प्रभावित करती है। यह बहुत खतरनाक स्थिति है। हालांकि स्ट्रोक कहीं भी हो सकता है, ज्यादातर मामलों को सुबह जल्दी देखा जाता है।

यह भी पढ़ें: क्या लगातार कंप्यूटर पर काम करने से सिरदर्द होता है? बचने के लिए ये उपाय करें

स्ट्रोक और मस्तिष्क रक्तस्राव के बीच अंतर क्या है?

ब्रेन हेमरेज वास्तव में एक प्रकार का स्ट्रोक है। जब मस्तिष्क तक रक्त ले जाने वाली नसें रक्त की आपूर्ति को कम कर देती हैं, तो इसे ट्रैस्केमिक इस्केमिक स्ट्रोक कहा जाता है। जब मस्तिष्क को रक्त की आपूर्ति करने वाली ये नसें अवरुद्ध हो जाती हैं, तो इसे इस्केमिक स्ट्रोक कहा जाता है, जबकि अगर ये नसें फट जाती हैं, तो इसे मस्तिष्क रक्तस्राव कहा जाता है।

युवावस्था में स्ट्रोक का शिकार कौन हो सकता है?

-जिन लोगों को ब्लड क्लॉट की समस्या है, उन्हें इस्केमिक स्ट्रोक होने की संभावना अधिक होती है।

– जिन लोगों को जन्म के समय हार्ट चैंबर के पास कोई समस्या होती है और यह पहले कुछ महीनों तक बंद नहीं होता है, लोगों को बाद में स्ट्रोक होने की संभावना होती है।

– जब रक्त वाहिकाओं की दीवारें कमजोर होती हैं और उनमें बुलबुले बनते हैं, तो यह रक्तस्रावी स्ट्रोक है। कुछ लोगों को जन्म से ही उनकी रक्त वाहिकाओं की दीवारों में यह समस्या होती है, जो बाद में आघात कर सकती है।

यह भी पढ़ें: कभी-कभी रोना भी आवश्यक होता है, शारीरिक दर्द से लेकर मानसिक तनाव भी दूर होता है

-पॉलीसिस्टिक किडनी रोग एक आनुवांशिक बीमारी है जो कई युवाओं में स्ट्रोक का कारण है।

माइग्रेन एक न्यूरोलॉजिकल विकार है जिसमें एक गंभीर सिरदर्द होता है। कभी-कभी यह स्ट्रोक का कारण भी बन सकता है। माइग्रेन से पीड़ित महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियां लेने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। (डिस्क्लेमर: इस लेख में दी गई जानकारी और जानकारी सामान्य जानकारी पर आधारित हैं। हिंदी न्यूज़ 18 उनकी पुष्टि नहीं करता है। कृपया उन्हें लागू करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)।

window.addEventListener(‘load’, (event) => {
nwGTMScript();
nwPWAScript();
fb_pixel_code();
});
function nwGTMScript() {
(function(w,d,s,l,i){w[l]=w[l]||[];w[l].push({‘gtm.start’:
new Date().getTime(),event:’gtm.js’});var f=d.getElementsByTagName(s)[0],
j=d.createElement(s),dl=l!=’dataLayer’?’&l=”+l:”‘;j.async=true;j.src=”https://www.googletagmanager.com/gtm.js?id=”+i+dl;f.parentNode.insertBefore(j,f);
})(window,document,’script’,’dataLayer’,’GTM-PBM75F9′);
}

function nwPWAScript(){
var PWT = {};
var googletag = googletag || {};
googletag.cmd = googletag.cmd || [];
var gptRan = false;
PWT.jsLoaded = function() {
loadGpt();
};
(function() {
var purl = window.location.href;
var url=”//ads.pubmatic.com/AdServer/js/pwt/113941/2060″;
var profileVersionId = ”;
if (purl.indexOf(‘pwtv=’) > 0) {
var regexp = /pwtv=(.*?)(&|$)/g;
var matches = regexp.exec(purl);
if (matches.length >= 2 && matches[1].length > 0) {
profileVersionId = “https://hindi.news18.com/” + matches[1];
}
}
var wtads = document.createElement(‘script’);
wtads.async = true;
wtads.type=”text/javascript”;
wtads.src = url + profileVersionId + ‘/pwt.js’;
var node = document.getElementsByTagName(‘script’)[0];
node.parentNode.insertBefore(wtads, node);
})();
var loadGpt = function() {
// Check the gptRan flag
if (!gptRan) {
gptRan = true;
var gads = document.createElement(‘script’);
var useSSL = ‘https:’ == document.location.protocol;
gads.src = (useSSL ? ‘https:’ : ‘http:’) + ‘//www.googletagservices.com/tag/js/gpt.js’;
var node = document.getElementsByTagName(‘script’)[0];
node.parentNode.insertBefore(gads, node);
}
}
// Failsafe to call gpt
setTimeout(loadGpt, 500);
}

// this function will act as a lock and will call the GPT API
function initAdserver(forced) {
if((forced === true && window.initAdserverFlag !== true) || (PWT.a9_BidsReceived && PWT.ow_BidsReceived)){
window.initAdserverFlag = true;
PWT.a9_BidsReceived = PWT.ow_BidsReceived = false;
googletag.pubads().refresh();
}
}

function fb_pixel_code() {
(function(f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq) return;
n = f.fbq = function() {
n.callMethod ?
n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments)
};
if (!f._fbq) f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s)
})(window, document, ‘script’, ‘https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘482038382136514’);
fbq(‘track’, ‘PageView’);
} ।

Source link



Source link

About the author

Leave a Comment