Madhyapradesh

मप्र में बच गया मरीज: शिवपुरी जिला अस्पताल की दो महिलाओं सहित चार कोरोना संक्रमित लोग लापता, पुलिस ने मामला दर्ज किया

symbolic image
Written by H@imanshu


न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, शिवपुरी

द्वारा प्रकाशित: सुरेंद्र जोशी
अद्यतित मंगल, 6 अप्रैल, 2021 08:24 अपराह्न IST

खबर सुनें

पिछले साल की तरह इस बार भी अस्पताल से कोरोना के मरीजों के भागने का सिलसिला शुरू हो गया है। हालांकि, दूसरी लहर के दौरान पहला ऐसा मामला सामने आया। मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिला अस्पताल के कोविद -19 वार्ड से दो दिनों में चार संक्रमित मरीज बच गए हैं। इनमें दो महिलाएं भी शामिल हैं।

शिवपुरी कोतवाली पुलिस इंस्पेक्टर बादाम सिंह ने मंगलवार को कहा कि इन चार कोरोना पॉजिटिव लोगों के खिलाफ कोतवाली पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 188, 269 और 270 में मामला दर्ज किया गया है, जो शिवपुरी की शिकायत के लिए अस्पताल से भाग गए थे। जिला अस्पताल प्रशासन

उन्होंने कहा कि दो पुरुषों और एक महिला सहित तीन प्रतिवादियों को संक्रमित होने के बाद अलगाव में रखा गया था। तीनों बिना किसी को बताए तीन अप्रैल की रात 8 बजे अस्पताल से भाग गए।

इसी तरह, कोविद से संक्रमित होने के बाद एक अन्य मरीज को भी आइसोलेशन रूम में रखा गया था, वह 4 अप्रैल को वहां से भाग निकली। आपको बता दें, मप्र देश के उन 11 राज्यों में भी शामिल है, जहां दूसरी कोरोना लहर में बड़ी संख्या में संक्रमित मरीज पाए जाते हैं।

विस्तृत

पिछले साल की तरह इस बार भी अस्पताल से कोरोना के मरीजों के भागने का सिलसिला शुरू हो गया है। हालांकि, दूसरी लहर के दौरान पहला ऐसा मामला सामने आया। मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिला अस्पताल के कोविद -19 वार्ड से दो दिनों में चार संक्रमित मरीज बच गए हैं। इनमें दो महिलाएं भी शामिल हैं।

शिवपुरी कोतवाली पुलिस इंस्पेक्टर बादाम सिंह ने मंगलवार को कहा कि इन चार कोरोना पॉजिटिव लोगों के खिलाफ कोतवाली पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 188, 269 और 270 में मामला दर्ज किया गया है, जो शिवपुरी की शिकायत के लिए अस्पताल से भाग गए थे। जिला अस्पताल प्रशासन

उन्होंने कहा कि दो पुरुषों और एक महिला सहित तीन प्रतिवादियों को संक्रमित होने के बाद अलगाव में रखा गया था। तीनों बिना किसी को बताए तीन अप्रैल की रात 8 बजे अस्पताल से भाग गए।

इसी तरह, कोविद से संक्रमित होने के बाद एक अन्य मरीज को भी आइसोलेशन रूम में रखा गया था, वह 4 अप्रैल को वहां से भाग निकली। आपको बता दें, देश के उन 11 राज्यों में मप्र भी शामिल है, जहां दूसरी कोरोना लहर में बड़ी संख्या में संक्रमित मरीज पाए जाते हैं।





Source by [author_name]

About the author

H@imanshu

Leave a Comment