Madhyapradesh

कोरोना युग में भरोसा तोड़ना: दो डॉक्टरों को रेमेड्सवीर ब्लैक मार्केटिंग के लिए गिरफ्तार किया गया, वे 30,000 के लिए व्यापार कर रहे थे

Written by [email protected]


फीचर डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली द्वारा प्रकाशित: नवनीत राठौर Updated Mon, Apr 26, 2021 8:25 pm IST

कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी के कारण देश भर में स्वास्थ्य सेवा प्रणाली एक बार फिर ध्वस्त हो गई है। लेकिन ऐसी स्थिति में भी कुछ लोग अटकलों में शामिल हैं। देश के कई शहरों में रेमाडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी का मामला सामने आया है। इसी तरह का एक मामला मध्य प्रदेश के रतलाम में सामने आया है, जहाँ पुलिस ने दो डॉक्टरों को ड्यूटी पर रखा था, जब वे रेमेडिसविर इंजेक्शन का विपणन कर रहे थे।





Source by [author_name]

अनियंत्रित ताज काला बाजार पर इंजेक्टेबल रेमिडीविर की बिक्री काला बाजार रीमेडिविर कालाबाजारी हटाने वाला इंजेक्शन कोरोनावाइरस डॉक्टरों ने गिरफ्तार किया ताज से मौत मध्य प्रदेश महान अपराध मुकुट अपराध मुकुट और मौत रतलाम रतलाम अपराध के बारे में खबर रतलाम कोरोना रोगी रतलाम न्यूज़ रतलाम में remdesivir की कालाबाजारी रतलाम में कोरोनोवायरस रोगी रतलाम समाचार रीमाडेसिविर इंजेक्शन रेमेडिसविर कालाबाजारी का इंजेक्शन

About the author

Leave a Comment