Utility:

कार्य बिंदु: पीएफ खाते से पैसे निकालने में जल्दबाजी न करें, सेवानिवृत्ति निधि 1 लाख रुपये की निकासी के साथ 11 लाख से अधिक की हानि होगी


  • हिंदी समाचार
  • सौदा
  • ईपीएफ; पीएफ; सेवानिवृत्ति निधि: कोरोना; पीएफ खाते से पैसे निकालने में जल्दबाजी न करें, 1 लाख रुपये निकालने के बाद रिटायरमेंट फंड को 11 लाख से अधिक का नुकसान होगा

विज्ञापनों से परेशानी हो रही है? विज्ञापन मुक्त समाचार प्राप्त करने के लिए दैनिक भास्कर ऐप इंस्टॉल करें

नई दिल्ली19 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

सरकार ने कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ या पीएफ) से पैसा निकालना आसान बना दिया है। इससे पीएफ से पैसा निकालना आसान हो गया है। इस कारण से, यह देखा जाता है कि जब लोगों को पैसे की जरूरत होती है, तो वे अपने पीएफ फंड से पैसा निकाल लेते हैं। अगर आप भी पीएफ फंड से पैसे निकालने की योजना बना रहे हैं, तो यह बहुत जरूरी है कि आप जान लें कि अगर आप यहां से पैसा निकालते हैं तो आपके रिटायरमेंट फंड को कितना नुकसान होगा।

आपका फंड कितना प्रभावित होगा?
अनुमानित गणना के अनुसार, अगर आपके रिटायरमेंट में 30 साल बाकी हैं और अब आप पीएफ खाते से 50 लाख रुपये निकालते हैं, तो यह आपके रिटायरमेंट फंड को 5 लाख 27 हजार रुपये से प्रभावित करेगा। यहां जानें कि आपके रिटायरमेंट फंड में आपके पास कितना रिटायरमेंट मनी होगा।

कितने पैसे निकालने हैं 20 साल (रु) के बाद आपको कितना मिलेगा? 30 साल के बाद आपको कितना कम मिलेगा? (रुपया)
10 हजार 51 हजार 1 लाख 16 हजार
20000 रु 1 लाख 02 हजार 2 लाख 31 हजार
50,000 रु 2 लाख 55 हजार 5 लाख 58 हजार
1 लाख 5 लाख 11 हजार 11 लाख 55 हजार
2 लाख 10 लाख 22 हजार 23 लाख 11 हजार
3 लाख 15 लाख 33 हजार 34 लाख 67 हजार

नोट: यह तालिका एक मोटे अनुमान के आधार पर प्रदान की गई है। इसके अलावा, यहां प्रस्तुत तालिका में, सालाना ब्याज की गणना की गई थी।

पीएफ फंड से पैसे न निकालें जब तक कि यह बहुत महत्वपूर्ण न हो
मनी मैनेजमेंट विशेषज्ञों का मानना ​​है कि आपको पीएफ से पैसा निकालने से बचना चाहिए जब तक कि यह बहुत महत्वपूर्ण न हो। यह 8.5% की दर से ब्याज कमाता है। पीएफ से जितनी अधिक राशि निकाली जाएगी, रिटायरमेंट फंड पर उतना अधिक प्रभाव पड़ेगा।

कितना एफपी काटा जाता है?
नियमों के अनुसार, उन लोगों के लिए अनिवार्य है जो अपने वेतन का 12% योगदान करते हैं और पीएफ खाते में कमी भत्ता है। साथ ही कंपनी द्वारा 3.67% राशि ईपीएफ में जमा की जाती है। शेष 8.33% कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस) में जमा किया जाता है।

और भी खबरें हैं …





Source link

Leave a Comment