Madhyapradesh

कमाल: शिवराज मंत्री का खाली पड़े अस्पताल के बेड को लेकर अजीबोगरीब सलाह: अगर मरीज की मौत हो जाती है, तो कोई गारंटी नहीं है।

Written by [email protected]


न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, नरसिंहपुर

द्वारा प्रकाशित: तनुजा यादव
Updated Sat, Apr 17, 2021 1:41 PM IST

बायोडाटा

मध्यप्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने ताज के मरीजों के बारे में दिया अजीबोगरीब बयान डॉक्टरों ने रोगियों की समस्या का वर्णन किया जिन्होंने रोगियों को बताया कि अगर वे घर जाते हैं, अगर वे यहां मर जाते हैं, तो कोई गारंटी नहीं है।

मध्य प्रदेश के मंत्री गोपाल भार्गव
– फोटो: सामाजिक नेटवर्क

खबर सुनिए

देश में दूसरी कोरोना लहर को पहले की तुलना में अधिक खतरनाक बताया गया है और वास्तव में देखा जा सकता है। लेकिन कोरोना के बीच नेताओं की बयानबाजी नहीं रुकती है। मध्य प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने कोरोना रोगियों के बारे में एक असभ्य बयान दिया है, जिसके बाद वे सोशल मीडिया पर सवालों से घिरे हैं।

बता दें कि जब मंत्री मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिला अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टरों ने उन्हें वहां की समस्याओं के बारे में बताया। डॉक्टरों ने कहा कि कई मरीज ऐसे हैं जो ताज से उबरने के बाद भी घर नहीं जाना चाहते हैं, इसलिए बिस्तर घिरे हुए हैं और कभी-कभी ऑक्सीजन की आपूर्ति भी प्रभावित होती है।

इसके बाद मंत्री की तरफ से ऐसा बयान आया, जिससे सभी की निगाहें उन पर टिक गईं। उन्होंने मरीजों से कहा कि अगर वे घर जाते हैं या मर जाते हैं, तो कोई गारंटी नहीं है। इतना ही नहीं, मंत्री ने डॉक्टरों को मरीजों का दौरा बंद करने की सलाह दी। मंत्री गोपाल भार्गव का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। गोपाल भार्गव के अलावा कई स्थानीय नेता भी उनके साथ मौजूद हैं।

इस समस्या के बारे में संबंधित डॉक्टर ने कहा कि जिले भर से मरीज आते हैं। सरकारी अस्पताल होने के कारण किसी को नहीं छोड़ा जा सकता है। डॉक्टरों ने कहा कि जो मरीज ठीक हो गए हैं वे घर नहीं जाना चाहते हैं। जिनके ऑक्सीजन का स्तर 96-98 तक गिर गया है, वे भी घर नहीं जा रहे हैं।

डॉक्टर ने अपनी समस्या बताते हुए कहा कि कल 20 मरीजों को छुट्टी दे दी गई थी, जिनमें से एक मरीज घर चला गया था। अब पुराने मरीजों के घर जाने तक नए मरीज कहां रखे जाएंगे? मरीजों को डर है कि घर जाने से उनका ऑक्सीजन स्तर कम हो जाएगा। इसी समय, ऑक्सीजन की खपत भी बढ़ जाती है।

विस्तृत

देश में दूसरी कोरोना लहर को पहले की तुलना में अधिक खतरनाक बताया गया है और वास्तव में देखा जा सकता है। लेकिन कोरोना के बीच नेताओं की बयानबाजी नहीं रुकती है। मध्य प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने कोरोना रोगियों के बारे में एक असभ्य बयान दिया है, जिसके बाद वे सोशल मीडिया पर सवालों से घिरे हैं।

बता दें कि जब मंत्री मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिला अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टरों ने उन्हें वहां की समस्याओं के बारे में बताया। डॉक्टरों ने कहा कि कई मरीज ऐसे हैं जो ताज से उबरने के बाद भी घर नहीं जाना चाहते हैं, इसलिए बिस्तर घिरे हुए हैं और कभी-कभी ऑक्सीजन की आपूर्ति भी प्रभावित होती है।

इसके बाद मंत्री की तरफ से ऐसा बयान आया, जिससे सभी की निगाहें उन पर टिक गईं। उन्होंने मरीजों से कहा कि अगर वे घर जाते हैं या मर जाते हैं, तो कोई गारंटी नहीं है। यही नहीं, मंत्री ने डॉक्टरों को मरीजों का दौरा बंद करने की सलाह दी। मंत्री गोपाल भार्गव का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। गोपाल भार्गव के अलावा कई स्थानीय नेता भी उनके साथ मौजूद हैं।

इस समस्या के बारे में संबंधित डॉक्टर ने कहा कि जिले भर से मरीज आते हैं। सरकारी अस्पताल होने के कारण किसी को नहीं छोड़ा जा सकता है। डॉक्टरों ने कहा कि जो मरीज ठीक हो गए हैं वे घर नहीं जाना चाहते हैं। जिनके ऑक्सीजन का स्तर 96-98 तक गिर गया है, वे भी घर नहीं जा रहे हैं।

डॉक्टर ने उनकी समस्या को उजागर करते हुए कहा कि कल 20 रोगियों को छुट्टी दे दी गई थी, जिनमें से एक घर गया था। अब पुराने मरीजों के घर जाने तक नए मरीज कहां रखे जाएंगे? मरीजों को डर है कि घर जाने से उनका ऑक्सीजन स्तर कम हो जाएगा। इसी समय, ऑक्सीजन की खपत भी बढ़ जाती है।





Source by [author_name]

About the author

Leave a Comment