Ujjain

मध्य प्रदेश: सभी शहरी क्षेत्रों में दो दिवसीय तालाबंदी, शुक्रवार रात से सोमवार सुबह 6 बजे तक पूर्ण बंदी म।

Written by [email protected]


न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, भोपाल / उज्जैन / जबलपुर

द्वारा प्रकाशित: प्रशांत कुमार
अपडेटेड थू, अप्रैल 8, 2021 12:32 PM एम। आईएसटी

खबर सुनिए

दूसरी कोरोना लहर मध्य प्रदेश में विस्फोटक बन रही है। एक दिन में यहां महामारी को रोकने के लिए, राज्य सरकार ने शुक्रवार को शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक सभी शहरी क्षेत्रों में कुल बंद लागू किया। इससे पहले, शहरी क्षेत्रों में रात का कर्फ्यू सुबह 10 बजे से सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कहा कि संक्रमण में वृद्धि को देखते हुए शहरी क्षेत्रों में दो दिनों के लिए सब कुछ बंद करने का निर्णय लिया गया। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वह कभी नहीं चाहते थे कि राज्य में पूर्ण जेल की सजा हो, लेकिन सरकार ने बेकाबू स्थिति को देखते हुए यह निर्णय लिया है। बता दें कि इससे पहले राज्य के कई जिले पूरी तरह से गिरफ्तार हो चुके हैं। नाकाबंदी छिंदवाड़ा, शाजापुर और अन्य जगहों पर की गई है। छिंदवाड़ा में अगले 7 दिनों तक कुल बंद लागू रहेगा।

राज्य में ऑक्सीजन की कमी।

बता दें कि पिछले 24 घंटों में राज्य में 4,043 नए मामले सामने आए हैं। राज्य के 4 बड़े शहरों में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में 50 प्रतिशत संक्रमित मरीज पाए गए हैं। राज्य का इंदौर शहर सबसे अधिक संक्रमित है। यहां बहुत सारे नए मरीज आते हैं। इसके साथ, राज्य के कई शहरों में ऑक्सीजन की कमी हो गई है। सरकार ने बैलों के लिए भिलाई इस्पात संयंत्र के लिए प्रतिबद्ध किया है।

सिर्फ 5 दिनों में खुलेंगे सरकारी दफ्तर
कोरोना में विकट स्थिति को देखते हुए सरकार ने सप्ताह में पांच दिन सभी सरकारी कार्यालय खोलने का आदेश जारी किया है। सरकारी कार्यालय का समय सुबह 10 से शाम 6 बजे तक होगा। यानी नए आदेश नहीं आने तक शनिवार और रविवार को सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे।

विस्तृत

दूसरी कोरोना लहर मध्य प्रदेश में विस्फोटक बन रही है। एक दिन में यहां महामारी को रोकने के लिए, राज्य सरकार ने शुक्रवार शाम 6 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक सभी शहरी क्षेत्रों में कुल बंदी लगा दी। इससे पहले, शहरी क्षेत्रों में रात का कर्फ्यू सुबह 10 बजे से सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कहा कि संक्रमण में वृद्धि को देखते हुए शहरी क्षेत्रों में दो दिनों के लिए सब कुछ बंद करने का निर्णय लिया गया। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वह कभी नहीं चाहते थे कि राज्य में पूर्ण जेल की सजा हो, लेकिन सरकार ने बेकाबू स्थिति को देखते हुए यह निर्णय लिया है। बता दें कि इससे पहले राज्य के कई जिले पूरी तरह से गिरफ्तार हो चुके हैं। नाकाबंदी छिंदवाड़ा, शाजापुर और अन्य जगहों पर की गई है। छिंदवाड़ा में अगले 7 दिनों तक कुल बंद लागू रहेगा।

राज्य में ऑक्सीजन की कमी।

बता दें कि पिछले 24 घंटों में राज्य में 4,043 नए मामले सामने आए हैं। राज्य के 4 बड़े शहरों में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में 50 प्रतिशत संक्रमित मरीज पाए गए हैं। राज्य का इंदौर शहर सबसे अधिक संक्रमित है। बहुत सारे नए मरीज यहां आ रहे हैं। इसके साथ, राज्य के कई शहरों में ऑक्सीजन की कमी हो गई है। सरकार ने बैलों के लिए भिलाई इस्पात संयंत्र के लिए प्रतिबद्ध किया है।

सिर्फ 5 दिनों में खुलेंगे सरकारी दफ्तर

कोरोना में विकट स्थिति को देखते हुए सरकार ने सप्ताह में पांच दिन सभी सरकारी कार्यालय खोलने का आदेश जारी किया है। सरकारी कार्यालय का समय सुबह 10 से शाम 6 बजे तक होगा। यानी नए आदेश नहीं आने तक शनिवार और रविवार को सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे।





Source by [author_name]

कोविड -19 टीका नवीनतम भोपाल समाचार हिंदी में भोपाल समाचार हिंदी में भोपाल हिंदी समचार मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस मौत का ताज शिवराज सिंह चौहान

About the author

Leave a Comment