Bhopal

भोपाल में कोरोना: पहली बार एक साथ अंतिम यात्रा में 41 शव, एक आठ महीने की बच्ची भी नहीं बची

Written by H@imanshu


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल

द्वारा प्रकाशित: तनुजा यादव
अपडेटेड शुक्र, अप्रैल 9, 2021 1:16 PM एम। आईएसटी

एक मुकुट (प्रतीकात्मक फोटो) के साथ रोगियों के अंतिम संस्कार के लिए कम जगह है
– फोटो: ANI

खबर सुनें

देश में कोरोनावायरस के दैनिक मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। वहीं, पूरे दिन चलने वाली मौतों के कारण कई जगहों पर लाशों के दाह संस्कार में दिक्कतें आती हैं। मध्य प्रदेश की राजधानी में भी ऐसा ही हुआ, जहां 41 क्राउन सकारात्मक लोगों का एक ही दिन में अंतिम संस्कार किया गया।

यह पहली बार है जब भोपाल में एक साथ इतने सारे मुकुट रोगियों की लाशों का अंतिम संस्कार किया गया है। गुरुवार को भदभदा विश्राम घाट पर 41 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इसमें कोरोना प्रोटोकॉल के तहत 31 कोरोना संक्रमित निकायों का अंतिम संस्कार शामिल था।

भोपाल की स्थिति इतनी विकट हो गई है कि, पहली बार, भदभदा विश्रामघाट में मुकुट से संक्रमित लोगों के लिए तैयार किया गया स्थान छोटा हो गया है और नए रोगियों के कारण नए स्थानों का निर्माण किया जाना है। उन्होंने कहा कि भदभदा विश्रामघाट में मुकुट-संक्रमित लाशों के अंतिम संस्कार के लिए कुल 12 स्तंभ तैयार किए गए थे।

जब अंतिम संस्कार स्थल मौजूदा साइट तक नहीं पहुंचा, तो इलेक्ट्रिक श्मशान के फर्श पर एक नई साइट तैयार की जानी थी। इसके अलावा, आठ परिवार 36 लाशों के बाद भी लाशों को विश्रमघाट लाने के लिए कह रहे थे, लेकिन रात खत्म होने के कारण उन्हें मना करना पड़ा।

इसके अलावा भोपाल के सुभाष नगर विश्रामघाट में पांचों का अंतिम संस्कार किया गया और पांच संक्रमित शवों को झडा कब्रिस्तान में दफनाया गया। इसके अलावा, इंदौर में 6 अप्रैल को एक साथ 25 कोरोना रोगियों का अंतिम संस्कार किया गया था।

आठ महीने की बच्ची की ताजपोशी हो गई
इसके अलावा, आठ महीने की बच्ची अदीबा की भोपाल में कोरोना ने हत्या कर दी थी। भोपाल में पहली बार इतनी कम उम्र के बच्चे की ताजपोशी हुई है। अदीबा एम्स में इलाज करवा रही थी लेकिन उसके बाद भी कोरोना के साथ लड़ाई जीतने में असमर्थ थी। हैरानी की बात है कि लड़के के परिवार में किसी को भी ताज नहीं मिला।

देश में लगातार तीसरे दिन एक लाख से अधिक मामले सामने आए
देश में कोरोना वायरस की संख्या बहुत तेजी से फैल रही है और हर दिन सामने आने वाली संख्या भयानक है। देश में लगातार तीसरे दिन एक लाख से अधिक कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा प्रकाशित नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में देश में 1.31 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं।

विस्तृत

देश में कोरोनावायरस के दैनिक मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। वहीं, पिछले दिनों हुई मौतों के कारण कई जगहों पर लाशों के दाह संस्कार में दिक्कतें आ रही हैं। मध्य प्रदेश की राजधानी में भी ऐसा ही हुआ, जहां 41 क्राउन सकारात्मक लोगों का एक ही दिन में अंतिम संस्कार किया गया।

यह पहली बार है जब भोपाल में एक साथ इतने सारे मुकुट रोगियों की लाशों का अंतिम संस्कार किया गया है। गुरुवार को भदभदा विश्राम घाट पर 41 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। इसमें कोरोना प्रोटोकॉल के तहत 31 कोरोना संक्रमित निकायों का अंतिम संस्कार शामिल था।

भोपाल की स्थिति इतनी विकट हो गई है कि, पहली बार, भदभदा विश्रामघाट में मुकुट से संक्रमित लोगों के लिए तैयार किया गया स्थान कम हो गया और नए रोगियों के कारण नए रोगियों का निर्माण करना पड़ा। उन्होंने कहा कि भदभदा विश्रामघाट में मुकुट-संक्रमित लाशों के अंतिम संस्कार के लिए कुल 12 स्तंभ तैयार किए गए थे।

जब अंतिम संस्कार स्थल मौजूदा साइट तक नहीं पहुंचा, तो इलेक्ट्रिक श्मशान के फर्श पर एक नई साइट तैयार की जानी थी। इसके अलावा, आठ परिवार 36 लाशों के बाद भी लाशों को विश्रमघाट लाने के लिए कह रहे थे, लेकिन रात खत्म होने के कारण उन्हें मना करना पड़ा।

इसके अलावा भोपाल के सुभाष नगर विश्रामघाट में पांचों का अंतिम संस्कार किया गया और पांच संक्रमित शवों को झडा कब्रिस्तान में दफनाया गया। इसके अलावा, इंदौर में 6 अप्रैल को एक साथ 25 कोरोना रोगियों का अंतिम संस्कार किया गया था।

आठ महीने की बच्ची की ताजपोशी हो गई

इसके अलावा, आठ महीने की बच्ची अदीबा की भोपाल में कोरोना ने हत्या कर दी थी। भोपाल में पहली बार इतनी कम उम्र के बच्चे की ताजपोशी हुई है। अदीबा एम्स में इलाज करवा रही थी लेकिन उसके बाद भी कोरोना के साथ लड़ाई जीतने में असमर्थ थी। हैरानी की बात है कि लड़के के परिवार में किसी को भी ताज नहीं मिला।

देश में लगातार तीसरे दिन एक लाख से अधिक मामले सामने आए

देश में कोरोना वायरस की संख्या बहुत तेजी से फैल रही है और हर दिन सामने आने वाली संख्या भयानक है। देश में लगातार तीसरे दिन एक लाख से अधिक कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा प्रकाशित नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में देश में 1.31 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं।





Source by [author_name]

About the author

H@imanshu

Leave a Comment