Bhopal

कोरोना की अराजकता: सीएम शिवराज ने सख्ती दिखाई, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ की सीमाओं को सील करने का फैसला किया

Written by H@imanshu


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल

द्वारा प्रकाशित: तनुजा यादव
Updated Sun, Apr 4, 2021 1:00 pm IST

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
– फोटो: ANI

खबर सुनें

कोरोना मामलों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बड़ा फैसला किया है। उन्होंने कहा कि हमारे पड़ोसी राज्यों में स्थिति बहुत खराब है, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में स्थिति गंभीर है। हमने महाराष्ट्र सीमा को सील कर दिया है और छत्तीसगढ़ से एक आंदोलन प्रतिबंध होगा।

महाराष्ट्र के समीपवर्ती जिलों में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए, अब केवल कार्गो आंदोलनों, आवश्यक सेवाओं और आपात स्थितियों की अनुमति है। शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना की स्थिति पर समीक्षा बैठक के बाद कहा कि राज्य में सभी लोगों के मुखौटे पहनना बेहद जरूरी है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि खुद को प्रेरित करने के अलावा, आपको दूसरों को सिखाने की भी जरूरत है। आपको लोगों के साथ सख्त होने की भी जरूरत है। राज्य के सभी जिला मजिस्ट्रेटों को निर्देश दिया गया है कि यदि स्थिति नियंत्रण से बाहर है, तो वे बंद करने का फैसला कर सकते हैं। रविवार से किसी भी जिले में बंद लागू हो सकता है।

इसके अलावा, जो लोग मास्क नहीं लगाते हैं उन पर जुर्माना लगाया जाएगा और कुछ समय के लिए खुली जेल में भी रह सकते हैं। निजी अस्पतालों में बेड बढ़ाने पर जोर देने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा, यह अनुरोध किया गया है कि आयुष्मान कार्डधारक का इलाज मुफ्त हो।

वहीं, जिन जिलों में नाकाबंदी की गई है, वहां टीकाकरण जारी रहेगा। हालांकि, किसी भी सार्वजनिक मेले या कार्यक्रमों की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने इंदौर में दस हजार बेड की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही यह भी कहा गया है कि निजी अस्पतालों को अधिक शुल्क नहीं देना चाहिए।

विस्तृत

कोरोना मामलों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बड़ा फैसला किया है। उन्होंने कहा कि हमारे पड़ोसी राज्यों में स्थिति बहुत खराब है, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में स्थिति गंभीर है। हमने महाराष्ट्र सीमा को सील कर दिया है और छत्तीसगढ़ से एक आंदोलन प्रतिबंध होगा।

महाराष्ट्र के समीपवर्ती जिलों में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए, अब केवल कार्गो आंदोलनों, आवश्यक सेवाओं और आपात स्थितियों की अनुमति है। शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना की स्थिति पर समीक्षा बैठक के बाद कहा कि राज्य में सभी लोगों के मुखौटे पहनना बेहद जरूरी है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि खुद को प्रेरित करने के अलावा, आपको दूसरों को सिखाने की भी जरूरत है। आपको लोगों के साथ सख्त होने की भी जरूरत है। राज्य के सभी जिला मजिस्ट्रेटों को निर्देश दिया गया है कि यदि स्थिति नियंत्रण से बाहर है, तो वे बंद करने का फैसला कर सकते हैं। रविवार से किसी भी जिले में बंद लागू हो सकता है।

इसके अलावा, उन लोगों पर प्रतिबंध लगाया जाएगा जो मास्क नहीं लगाते हैं और कुछ समय के लिए खुली जेल में भी रह सकेंगे। निजी अस्पतालों में बेड बढ़ाने पर जोर देने के निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा, यह अनुरोध किया गया है कि आयुष्मान कार्डधारक का इलाज मुफ्त हो।

वहीं, जिन जिलों में नाकाबंदी की गई है, वहां टीकाकरण जारी रहेगा। हालांकि, किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम या मेले की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने इंदौर में दस हजार बेड की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही यह भी कहा गया है कि निजी अस्पतालों को अधिक शुल्क नहीं देना चाहिए।





Source by [author_name]

About the author

H@imanshu

Leave a Comment