Madhyapradesh

मानवता शर्मसार: नहीं मिला कोई वाहन, तो हाथ ठेले पर जवान बेटे का शव रखकर ले गया बेबस पिता

Written by [email protected]


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, गुना
Published by: दीप्ति मिश्रा
Updated Thu, 01 Apr 2021 09:13 AM IST

गुना :बेटे के शव को हाथ ठेले पर ले जाता बेबस पिता
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

मध्यप्रदेश के गुना जिले से ऐसी तस्वीर सामने आई है, जिसे देखने के बाद किसी की भी आखें नम हो जाएंगी। यहां जवान बेटे की मौत के बाद जब शव को घर तक लाने के लिए कोई वाहन नहीं मिला, तब एक बेबस पिता हाथ ठेले पर रखकर शव को घर तक लाया। मानवता को शर्मसार करने वाला यह मामला कुंभराज स्वास्थ्य केंद्र का है, जहां सरकारी अस्पताल तो छोड़ो आम लोगों ने भी इंसानियत नहीं दिखाई। 

गुना निवासी नितेश राव की मंगलवार को ससुराल जाते वक्त अचानक तबीयत बिगड़ गई थी। आनन फानन अस्पताल ले जाया गया, जहां नितेश की मौत हो गई। नितेश के पिता हेमराज राव ने बताया कि अस्पताल में डॉक्टर ने बेटे को देखते ही मृत घोषित कर दिया।

पिता ने बताया कि बुधवार को नितेश को पोस्टमार्टम कराया गया, लेकिन उसके बाद शव ले जाने के लिए अस्पताल प्रबंधन ने कोई वाहन नहीं दिया। लाचार पिता ने वाहन के लिए कई और लोगों से भी बात की, लेकिन जब कोई वाहन वाला शव को घर तक ले जाने को तैयार नहीं हुआ, तब लाचार पिता ने एक हाथ ठेला किराये पर लिया और शव ले जाने लगा। एक तो जवान बेटे की मौत और ऊपर से लोगों का यह झकझोर देने वाला रवैया..किसी का भी इंसानियत से भरोसा उठा देगी। 

नागरिक मंच कुंभराज ने की आपत्ति, तब जागी पुलिस
पिता को ठेले पर बेटे का शव ले जाते देख नागरिक मंच कुंभराज ने आपत्ति की, तब पुलिस ने एक ऑटो से शव भिजवाया। कुंभराज स्वास्थ्य केंद्र के मेडिकल ऑफिसर महेश जाटव का कहना है कि वाहन हमारे पास नहीं है, तो हमने पुलिस को बोल दिया था।

मध्यप्रदेश के गुना जिले से ऐसी तस्वीर सामने आई है, जिसे देखने के बाद किसी की भी आखें नम हो जाएंगी। यहां जवान बेटे की मौत के बाद जब शव को घर तक लाने के लिए कोई वाहन नहीं मिला, तब एक बेबस पिता हाथ ठेले पर रखकर शव को घर तक लाया। मानवता को शर्मसार करने वाला यह मामला कुंभराज स्वास्थ्य केंद्र का है, जहां सरकारी अस्पताल तो छोड़ो आम लोगों ने भी इंसानियत नहीं दिखाई। 

गुना निवासी नितेश राव की मंगलवार को ससुराल जाते वक्त अचानक तबीयत बिगड़ गई थी। आनन फानन अस्पताल ले जाया गया, जहां नितेश की मौत हो गई। नितेश के पिता हेमराज राव ने बताया कि अस्पताल में डॉक्टर ने बेटे को देखते ही मृत घोषित कर दिया।

पिता ने बताया कि बुधवार को नितेश को पोस्टमार्टम कराया गया, लेकिन उसके बाद शव ले जाने के लिए अस्पताल प्रबंधन ने कोई वाहन नहीं दिया। लाचार पिता ने वाहन के लिए कई और लोगों से भी बात की, लेकिन जब कोई वाहन वाला शव को घर तक ले जाने को तैयार नहीं हुआ, तब लाचार पिता ने एक हाथ ठेला किराये पर लिया और शव ले जाने लगा। एक तो जवान बेटे की मौत और ऊपर से लोगों का यह झकझोर देने वाला रवैया..किसी का भी इंसानियत से भरोसा उठा देगी। 

नागरिक मंच कुंभराज ने की आपत्ति, तब जागी पुलिस

पिता को ठेले पर बेटे का शव ले जाते देख नागरिक मंच कुंभराज ने आपत्ति की, तब पुलिस ने एक ऑटो से शव भिजवाया। कुंभराज स्वास्थ्य केंद्र के मेडिकल ऑफिसर महेश जाटव का कहना है कि वाहन हमारे पास नहीं है, तो हमने पुलिस को बोल दिया था।



Source by [author_name]

boy dead body boy dead body found boy dead body found in cannel child dead body dead body father forced guna guna news guna news in hindi guna news paper in hindi today helpless father Latest Madhya Pradesh News in Hindi madhya pradesh Madhya Pradesh Hindi Samachar Madhya Pradesh News in Hindi man carries dead body Mp Mp news mp news in hindi mp news in hindi today इंसानियत गुना गुना की खबरें पुलिस मध्यप्रदेश मध्यप्रदेश की खबरें मध्यप्रदेश की न्यूज मानवता शव वाहन नहीं मिला हाथ ठेले पर बेटे का शव

About the author

Leave a Comment